अजमेर. ।

रामभवन के पास स्थित एक कोचिंग इंस्टीट्यूट संचालक लाखों रुपए लेकर फरार होने का मामला सामने आया है। जबकि क्रिश्चियनगंज थाने में पहले से उसकी गुमशुदगी दर्ज बताई जा रही है। बच्चों की फीस लेकर फरार होने की जानकारी मिलने पर अभिभावक थाने पहुंचे और शिकायत दी। पुलिस के अनुसार पंचशील हाउसिंग बोर्ड निवासी विजेन्द्र राम भवन के पास कोचिंग इंस्टीट्यूट संचालित करता था।


 बच्चों की स्कूल की छुट्टियां होने से पहले उसने सभी बच्चों की फीस ले ली और 17 जून तक कोचिंग की छुट्टी कर दी। रविवार को अभिभावक कोचिंग इंस्टीट्यूट पहुंचे तो वहां पर ताला लगा मिला। इस पर कोचिंग संचालक के घर गए तो वहां पर उसका कोई पता नहीं चला। इससे आक्रोशित अभिभावक एवं इंस्टीट्यूट में कार्यरत शिक्षक थाने पहुंचे। 


वहां पर त्रिलोक गोयल ने बताया कि विजेन्द्र उसके करीब 20 लाख रुपए लेकर फरार हो गया। वहां पर मौजूद लोगों ने बताया कि वहां पर कार्यरत शिक्षक की जिनकी सैलरी करीब 5 लाख रुपए और बच्चों की फीस लेकर भी वह चपंत हो गया है। इसमें 40-50 अभिभावकों में से किसी से 10 तो किसी से 20 हजार रुपए फीस के रूप में लेने की बात सामने आई है। नरेन्द्र कुमावत, किशन, रमेश, डिम्पल आदि अभिभावकों ने क्रिश्चियनगंज थाने में शिकायत दी है। पुलिस ने शिकायत की जांच पड़ताल शुरू कर दी है।


मां ने करवाई गुमशुदगी दर्ज


पुलिस ने बताया कि हाउसिंग बोर्ड निवासी हीरामणी ने 1 जून को अपने पुत्र विजेन्द्र की गुमशुदगी दर्ज करवाई थी। इसमें उसने बताया कि विजेन्द्र कुछ दिनों से बिना बताए घर से कहीं चला गया है। पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू कर दी है। अभिभावकों ने आरोपित की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग की है।