अजमेर। ।

 समारोह स्थल व्यवसायी की ओर से फांसी लगाकर आत्महत्या के प्रयास का मामला पुलिस की प्रारंभिक पड़ताल में पारिवारिक कलह में उठाया गया कदम सामने आया। कोतवाली थाना पुलिस मामले की अनुसंधान में जुटी है। परिजन उसे एयर एम्बुलेंस से गुरुग्राम (हरियाणा) के निजी अस्पताल ले गए जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।


शास्त्रीनगर ई-402 निवासी अनूप गुप्ता (56) पुत्र दयाराम गुप्ता ने रविवार रात विजय लक्ष्मी पार्क के कमरा नम्बर 7 में फांसी लगाकर आत्महत्या का प्रयास किया। पुलिस की प्रारंभिक पड़ताल में सामने आया कि गुप्ता का पारिवारिक विवाद चल रहा था।


गुप्ता अक्सर समारोह स्थल के कमरा नम्बर 7 में रहते थे। रविवार रात भी गुप्ता कमरे में थे। परिवार के सदस्य पहुंचे तो वे फंदे पर लटके थे। सुरक्षाकर्मियों की मदद से समय रहते फंदे से उतार उन्हें तुरन्त जवाहरलाल नेहरू अस्पताल में भर्ती कराया। उन्हें चिकित्सकों ने सर्जिकल आईसीयू में रखा। करीब 12 घंटे तक चिकित्सकों की निगरानी में रखने के बाद परिजन सोमवार दोपहर उन्हें गुरुग्राम के निजी अस्पताल में ले गए।


पुलिस से पहले कमरा साफ


थानाप्रभारी बी.एल. मीणा ने बताया कि पुलिस पहुंची तब तक परिजन गुप्ता को फंदे से उतार चुके थे। कमरा नम्बर 7 में सब कुछ व्यवस्थित ही मिला।


 पुलिस ने कमरे की फौरी तलाशी ली लेकिन कोई सुसाइड नोट नहीं मिला और न ही कुछ खास सबूत मिले जिसमें आत्महत्या का कारण स्पष्ट होता हो। पुलिस अब मामले में पारिवारिक कलह की कड़ी को लेकर मामले की पड़ताल में जुटी है।