अजमेर. ।

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान की सीनियर सैकंडरी कला वर्ग की परीक्षा दे चुके 5 लाख से अधिक विद्यार्थियों को अब तक अंकतालिकाएं नहीं मिली है जबकि परीक्षा परिणाम 27 मई को घोषित कर दिया गया था। परिणाम जारी हुए 20 दिन से अधिक हो चुके हैं लेकिन बोर्ड की ओर से परीक्षार्थियों को मूल अंकतालिकाएं नहीं भिजवाई जा सकी हैं।


सीनियर सैकंडरी कला वर्ग की परीक्षा में 5 लाख 75 हजार 519 विद्यार्थी बैठे थे। इनमें से 5 लाख 12 हजार 495 विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए जबकि 26 हजार 95 विद्यार्थियों को पूरक परीक्षा देनी होगी।

लाखों विद्यार्थियों को आर्थिक चपत देश भर के महाविद्यालयों में प्रवेश प्रक्रिया प्रारंभ होने की वजह से विद्यार्थियों को आवेदन-पत्र के साथ अंकतालिका भी लगानी पड़ती है। मूल अंकतालिका नहीं मिलने के कारण अब परीक्षार्थियों को बोर्ड कार्यालय सहित प्रदेश में स्थित विद्यार्थी सेवा केन्द्रों से अंकतालिका की प्रतिलिपि लेनी पड़ रही है।


 बोर्ड अंकतालिका की प्रतिलिपि के लिए विद्यार्थयों से 200 रुपए वसूलता है। परिणाम जारी होने के बाद मूल अंकतालिकाएं भेजने में देरी की वजह से बोर्ड अंकतालिका की प्रतिलिपि बेचकर दो से ढाई करोड़ रुपए की कमाई कर लेता है।