लखनऊ। ।


उत्तर प्रदेश सरकार ने कौशल विकास योजना के तहत पांच वर्षों में कम से कम 10 लाख युवाओं को रोजगार दिलाये जाने का निर्णय लिया है। राज्य के व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास मंत्री चेतन चौहान ने बताया कि प्रदेश में बेरोजगारी की समस्या के स्थाई समाधान के लिए अधिक से अधिक युवाओं को कौशल विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम द्वारा प्रशिक्षित किया जाना आवश्यक है। 



इसी क्रम में राज्य सरकार ने पांच साल में दस लाख युवाओं को रोजगार दिलाये जाने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार का लक्ष्य है कि बेरोजगार युवाओं को प्रशिक्षित करके उन्हें रोजगार उपलब्ध कराये जायेंगे या वे स्वयं रोजगार भी शुरू कर सकने में सक्षम हों इसलिए बेरोजगारी की समस्या को दूर किया जा सके। 



राज्य सरकार नई उद्योग नीति के जरिए औद्योगिक क्षेत्र में बड़ी कम्पनियां प्रदेश में अपने उत्पादन तथा प्रोसेसिंग इकाईयां लगाएं इसके लिए उन्हें अनेक सहूलियतें और प्रोत्साहन दिये जाएंगे। 



चौहान ने बताया कि सरकार ने प्रशिक्षण प्रदाता चैम्पियन इम्प्लायर्स मेसर्स सेफ एडुकेट लर्निंग प्रा लि तथा मेसर्स सूर्या वॉयर्स प्रा लि से अनुबन्ध किये गए। इसके अतिरिक्त ''मेरा हुनर'' द्वारा ''यूपी मेरा हुनर डॉट कॉम'' वेबसाइट और मोबाइल ऐप का शुभारम्भ किया गया है।