मुंबई। ।

अभिनेत्री हुमा कुरैशी का कहना है कि बॉलीवुड में अपनी जगह बनाना काफी मुश्किल है। हुमा ने कहा, ''मैं पूरी तैयारी के साथ आई थी, लेकिन बॉलीवुड में अपनी जगह बनाना काफी कठिन है। इसके लिए जबर्दस्त तैयारी जरूरी है।" 


'इंदु सरकार' को गांधी परिवार या किसी से और से नहीं है NOC की जरूरत : पहलाज निहलानी


दिल्ली  की रहने वाली हुमा कुछ लघु फिल्में करने के बाद अनुराग कश्यप की फिल्म 'गैंग्स ऑफ वासेपुर-पार्ट 2' से चर्चा में आई थीं। हुमा ने 'एक थी डायन', 'लव शव ते चिकन खुराना', 'बदलापुर' और 'जॉली एलएलबी 2' जैसी कई हिट फिल्में दी हैं, लेकिन उनकी फिल्मों 'डेढ़ इश्किया', 'डी-डे' और 'दोबारा' को सफलता नहीं मिली। 


सलमान खान की तारीफ में बोले सुनील ग्रोवर - "जग घूमया थारे जैसा ना कोई"


हुमा का कहना है कि वह अपने काम पर पूरा ध्यान देती हैं और 'अपनी योग्यता के अनुरूप सर्वश्रेष्ठ' देने का प्रयास करती हैं। अपने करियर को लेकर हुमा ने कहा कि वह 'परिस्थिति के अनुसार अपने फैसले लेती हैं।'  हुमा कुरैशी जल्द ही फिल्म 'काला' और 'मुंबई सागा' में नजर आएगी।