जयपुर. ।

बासयोडा पर्व के दिन सोमवार को जयपुर—कोटा पुराने हाइवे पर शीतला माता मंदिर पर लगे मेले में हजारों श्रद्धालु उमड पडे। पुलिस—प्रशासन के पर्याप्त सुरक्षा इंतजाम थे नहीं इसलिए तीन से चार किलोमीटर तक जाम लग गया। भारी भीड के बीच कुछ लोग मंदिर में इस कदर फंसे कि जख्मी हो गए। घायलों को किया एसएमएस रैफर...



Rajasthanpatika.com
से श्रद्धालुओं ने बताया कि सुचारू व्यवस्था होती तो कोई दिक्कत नहीं होती। लेकिन यहां राजस्थान भर से आए भक्तों का प्रशासन द्वारा शायद कतईं ख्याल नहीं किया गया। जाम और वाहनों की चिल्ल—पौं के बीच कई लोग घायल हो गए। जबकि, छोटे बच्चे और बुजुर्गों की मुसीबतें और ज्यादा बढ गईं।



वहीं, पुलिस का कहना है कि इतनी भीड का अंदाजा उन्हें नहीं था। लोग ट्रेक्टर, बसों और बाइकों से मेले पहुंचे। हालांकि पैदल चलने वाले लोगों की संख्या अत्यधिक थी। यदि वाहनों के खडे होने की कहीं दूर जगह बनाई गई होती तो हादसा नहीं होता।



शंकर पुत्र माधव, भांकरोटा की हालात खराब हो गई। जहां उसे चाकसू सीएचसी से एसएमएस रैफर कर दिया गया। इसके अलावा कई छोटे बच्चों को भी अस्पताल भेजा गया।



Read: बासयोड़ा आज: जयपुर में यूं हुई मां शीतला देवी की पूजा, कोसों लंबी लगीं कतार, अदृभुत!