जोधपुर ।

पश्चिमी राजस्थान से सटे भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर सीमा सुरक्षा बल की गश्त बढ़ते ही पाकिस्तान में सर्दी बढ़ जाती थी। असल में जैसलमेर के किशनगढ़ क्षेत्र से 11 फरवरी 2017 को पकड़ा गया पाकिस्तानी जासूस हाजी खान पाकिस्तान को आर्मी,एयरफोर्स व बीएसएफ से सम्बंधित जानकारियां देने के लिए मौसम के कोड वर्ड का इस्तेमाल करता था।


READ MORE: जोधपुर आर्मी इंटेलीजेंस ने जासूसी के संदेह में पकड़ा एक संदिग्ध


रक्षा सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बॉर्डर पर बीएसएफ की गश्त बढ़ते ही जासूस हाजी खान पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियों को सूचना देता कि बॉर्डर पर आज 'सर्दी' ज्यादा है। यानी पाकिस्तानी जासूस बीएसएफ के लिए सर्दी, आर्मी के लिए गर्मी और एयरफोर्स के लिए बरसात कोड वर्ड का इस्तेमाल करता था।


READ MORE: देश के गद्दार से पूछताछ: सामने आया एेसा सच जो आंखों में आंसू लाने के साथ खून भी खौला देगा


जोधपुर आर्मी इंटेलीजेंस लाइजन यूनिट व सीआईडी की संयुक्त पूछताछ में पाकिस्तानी जासूस हाजी खान ने कई चौंकाने वाले राज उजागर किए हैं। इसके खिलाफ जयपुर में सीआईसी में मामला दर्ज करा दिया गया है।



खुफिया सूत्रों की मानें तो जोधपुर आर्मी इंटेलीजेंस लाइजन यूनिट व सीआईडी की पूछताछ में यह तथ्य सामने आया है कि पाकिस्तानी जासूस हाजी खान ने तीन-चार साल में रक्षा क्षेत्र से जुड़ी पल-पल की सूचनाएं पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियों को पहुंचाईं। पश्चिमी सरहद व रक्षा क्षेत्र की इतने बड़े पैमाने पर सूचनाएं पहुंचाने वाला यह बीते दस साल का सबसे बड़ा मामला है।